10 पैसे प्रति किलोमीटर चलने वाली इस इलेक्ट्रिक साइकिल की भारत में बिक्री शुरू

देश भर में पेट्रोल और डीजल की कीमतें दिनों दिन बढ़ती ही जा रही है और केंद्र सरकार इन्हें काबू में नहीं रख पा रही है. ऐसे में केंद्र सरकार ने अब देश भर में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देना शुरू कर दिया है. लोगों में भी महंगाई की मा’र से कुछ निजात पाने की चाहत में इलेक्ट्रिक वाहनों का क्रेज बढ़ता जा रहा है. लेकिन इलेक्ट्रिक बाइक या कार ख़रीदा काफी मंहगा पड़ता है, हालांकि यह एक वनटाइम निवेश होता है जो आपको लंबे वक्त से रिटर्न देता है.

अगर आप इलेक्ट्रिक बाइक खरीदने का बजट नहीं रखते है तो नाहक मोटर्स आपके लिए एक बेहतरीन अवसर लेकर आई है. दरअसल इस मोटर कंपनी ने एक इलेक्ट्रिक साइकिल बनाई है जो बढ़ते पेट्रोल डीजल के दामों के बीच काफी राहत देगी.

इलेक्ट्रिक साइकिल करेगी आपके सफर को आसान

हाल ही में मोटर कंपनी ने देश में इलेक्ट्रिक साइकिल लॉन्च की है, इसकी बुकिंग और डिलीवरी भी स्टार्ट हो गयी है. इस इलेक्ट्रिक साइकिल से आपका सफर आसान हो जाएगा और साथ ही पेट्रोल पर होने वाले खर्च की भी बचत होगी.

नाहक मोर्टस द्वारा देश में दो इलेक्ट्रिक साइकिल लॉन्च की गई है, जिनके नाम गरूड़ और जिप्पी रखे गए है. यह दोनों दिखने में जितनी शानदार है उतनी ही बजट फ्रेंडली भी है, इसी के चलते इनका क्रेज युवाओं के बीच तेजी से बढ़ रहा है.

कंपनी के मुताबिक गरूड़ साइकिल की क़ीमत 31, 999 रुपए रखी गई है जबकि जिप्पी इलेक्ट्रिक साइकिल आप 33, 499 रुपए का पेमेंट करके आपने घर आ सकते है. इन दोनों साइकिलों की ऑनलाइन बिक्री शुरू हो चुकी है.

गरूड़ और जिप्पी इलेक्ट्रिक साइकिल का लुक काफी बेहतरीन है, साथ ही यह अपने ग्राहकों को कई सुविधाएं भी देती है. अगर आप गरुड़ या जिप्पी खरीदते है तो आपको रिमुवेबल बैटरी, एलसीडी डिस्प्ले और पैडल सेंसर जैसे एडवांस टेक्नोलॉजी से लेस फीचर्स मिलते है.

अब सस्ता होगा सफर करना

इन दोनों इलेक्ट्रिक साइकिलों को फुल चार्ज होने में करीब 3 घंटे का वक्त लगता है और इसे किसी भी आम पॉवर सॉकेट से आसानी से चार्ज किया जा सकता हैं. वहीं एक बार चार्ज होने के बाद यह इलेक्ट्रिक साइकिल 40 किलोमीटर तक की दूरी आसानी से तय कर सकती है.

कंपनी ने दावा किया है कि उसकी यह साइकिल्स ग्राहकों को भारी बचत करवाएगी. कंपनी के अनुसार इन्हें चलाने में सिर्फ 10 पैसे प्रति किलोमीटर ख़र्च करने पड़ते हैं.

बता दें कि इस इलेक्ट्रिक साइकिल को बैटरी या पैडल दोनों के द्वारा चलाया जा सकता है. अगर आप आरामदायक सफ़र पसंद करते है तो आप इसे बैटरी से चला सकते है लेकिन अगर फिट रहने के लिए साइकिल चला रहे है तो आप पैडल मारकर भी चला सकते है.

अब पेट्रोल के दामों की चिंता छोड़िए

यहां इस बात का ध्यान रखा गया है कि अगर इलेक्ट्रिक साइकिल चलाते हुए बैटरी ख़’त्म हो गई तो ग्राहक इसे पैडल मारकर घर तक ला सकते है. इस तरह ग्राहक को रास्ते में मुश्किल का सामना नहीं करना पड़ेगा.