अडाणी ने किया 60 हजार करोड़ दान देने का ऐलान, कभी अंडरवर्ल्ड डॉन ने लिया था किडनैप

एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन चुके बिजनेसमैन गौतम अडाणी ने एक बड़ा ऐलान किया हैं। उन्होंने अपने 60वें जन्मदिन के मौके पर 60,000 करोड़ रुपए दान देने की बात कही हैं। बता दें कि यह भारतीय कॉर्पोरेट इतिहास में किसी एक फाउंडेशन को मिलने वाले सबसे बड़े दान में से एक हैं। यह फंड अडाणी फाउंडेशन को दिया जाएगा, जिसकी चेयरपर्सन गौतम अडाणी की पत्नी प्रीति अडाणी हैं। फाउंडेशन इस दान का इस्तेमाल हेल्थ केयर, स्किल डेवलपमेंट और एजुकेशन के लिए किया जाएगा।

अडाणी ने किया 60 करोड़ का दान

इस मौके पर प्रीति अडाणी ने सोशल मीडिया पर गौतम अडाणी की एक पुरानी तस्वीर साझा करते हुए लिखा कि मैंने अपने करियर को साइड में रखकर करीब 36 साल पहले गौतम के साथ एक नई जर्नी शुरू की। मैं अब जब भी इस पर सोचती हूं तो उनके लिए केवल गर्व और सम्मान महसूस होता है।

मैं उनके 60वें जन्मदिन के अवसर पर उनके अच्छे स्वास्थ्य और सभी सपनों के सच में बदलने की कामना करती हूं।गौतम अडाणी ने कहा कि उनके पिता के 100वें जन्मदिन और उनके 60वें जन्मदिन के मौके पर अडाणी परिवार देश में शिक्षा, हेल्थ केयर और स्किल डेवलपमेंट के विकास के लिए 60,000 करोड़ रुपए दान देने जा रहा है।

उन्होंने बताया कि जल्द ही तीन एक्सपर्ट कमेटियों को आमंत्रित किया जाएगा जो इन तीनों सेक्टर्स में फंड के इस्तेमाल को लेकर फैसला करेगी। इन कमेटियों में परिवार के सदस्य भी शामिल रहेंगे। आपको बता दें कि गौतम अडाणी उस ग्लोबल अरबपतियों की लिस्ट का हिस्सा बन चुके हैं, जिसमें अपनी संपत्ति का बड़ा हिस्सा दान करने वाले फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग और इन्वेस्टर वॉरेन बफे जैसे दिग्गज बिजनसमैन शामिल हैं।

अडाणी का ये दान 2021 में बिल गेट्स और मेलिंडा फ्रेंच गेट्स द्वारा अपने फाउंडेशन को दिए गए 1.17 लाख करोड़ रुपए के दान से लगभग आधा है। वहीं भारतीय दानवीरों की बात की जाए तो इस लिस्ट में सबसे ऊपर नाम आता हैं विप्रो लिमिटेड के पूर्व चेयरमैन अजीम प्रेमजी का। अजीम प्रेमजी ने वित्त वर्ष 2020-21 में एडलगिव हुरुन इंडिया फिलेन्थ्रॉपी लिस्ट 2021 के मुताबिक 9,713 करोड़ रुपए का दान दिया।

किड’नैप हो गए थे अडाणी

वहीं अडाणी 130 करोड़ रुपए के डोनेशन के साथ इस लिस्ट में 8वें नंबर पर थे। इस लिस्ट में HCL के फाउंडर-चेयरमैन शिव नडार और रिलायंस के मुकेश अंबानी के नाम भी शुमार हैं।

आपको बता दें कि गौतम अडाणी का जन्म 24 जून 1962 को गुजरात में हुआ था। कॉलेज ड्रॉपआउट अडानी ने 1980 के दशक में मुंबई की डायमंड इंडस्ट्री में अपनी किस्मत को आजमाया था। इसके बाद 1988 में उन्होंने एक छोटी एग्री ट्रेडिंग फर्म के साथ अपनी कंपनी अडाणी ग्रुप की शुरुआत की थी जो आज पूरे देश में फैल चुकी हैं।

साल 1997 में गौतम अडानी जब अपनी कार से शांतिलाल पटेल के साथ कर्णावती क्लब से निकले तभी एक स्कूटर ने जबरदस्ती उनकी गाड़ी रुकवाई ली। इसके बाद कुछ लोग वहां वैन से आए और दोनों को बंदू’क की नोंक पर किड’नैप करके ले गए। रिपोट्र्स के अनुसार अडानी को छोड़ने के बदले में 15 करोड़ रुपये की भारी-भरकम फिरौती मांगी गई थी, इसे लेने के बाद ही अदानी और पटेल को छोड़ा गया था।