UP: AIMIM के पूर्व अध्यक्ष मोहम्‍मद रुवेद ने दी हिंदू बनने की धमकी, सीएम योगी से लगाई गुहार

उत्‍तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के नेताओं पर लगातार गुं’डागर्दी का आरोप लगते रहे हैं। सपा की विराधी पार्टियां उसे गुड़ों की पार्टी भी कह कर संबोधित करती रही हैं। इस बीच अब एक बार फिर सपा नेताओं पर गुंडागर्दी के आरोप लगे हैं।एआईएमआईएम के नेता मोहम्मद रुवेद और उनकी पत्नी ने एक सपा नेता पर यह आरोप लगाए हैं।

खास बात यह हैं कि यह सपा नेता और कोइ नहीं बल्कि उनके ही पिता है। इसके साथ ही AIMIM नेता ने सूबे की योगी सरकार पर भरोसा जताते हुए न्याय की गुहार लगाई हैं।

हिंदू बनने की दी धम’की

बता दें कि मोहम्मद रुवेद AIMIM पार्टी के मुरादाबाद जिले के जिला अध्यक्ष भी रह चुके हैं। रुवेद ने इस दौरान हिन्दू धर्म अपनाने की धम’की भी दी है।

मोहम्मद रुवेद और उनकी पत्नी ने अपने परिवार से परेशान होकर हिंदू धर्म अपनाने की ध’मकी देते हुए यूपी सीएम योगी आदित्‍यनाथ से न्याय की गुहार भी लगाई है।

मोहम्मद रुवेद ने इस दौरान उम्मीद जताते हुए कहा कि उन्‍हों सीएम योगी जरूर न्याय दिलाएंगे। वहीं रुवेद ने अपने पिता और सपा नेता पर आरोप लगाते हुए कहा है कि वह (रूवेद के पिता) खुद समाजवादी मानसिकता रखते हैं।

मुरादाबाद एसएसपी को मोहम्मद रुवेद और उनकी पत्नी ने प्रार्थना पत्र भी लिखा है। इसमें उन्‍होंने अपनी बहन और जीजा पर आरोप लगाते हुए कहा है कि उनकी बहन और उनके जीजा उन्‍हें घर से निकालना चाह रहे है जिससे वह उनके मकान पर कब्‍जा कर सके।

कोई धर्म अपनाए मुझे फर्क नहीं पड़ता- पिता

मोहम्मद रुवेद ने पत्र में एसएसपी को दी शिकायत में यह भी बताया हैं कि उनके उनके मकान की कीमत एक करोड़ है। रुवेद का कहना हैं कि उनके जीजा एक वकील है और वो पुलिस पर दबाव बनाकर हमारे खिलाफ साजिश कर रहे हैं।

उन्‍होंने बताया कि वह पुलिस की मदद से उनके और उनकी पत्नी के ऊपर कई नकली केस भी लगवा चुके हैं। रुवेद ने कहा कि इलाके के मुस्लिम समुदाय से ताल्‍लुक रखने वाले बड़े लोग ये जानते हुए भी कि मैं सही हूँ फिर भी हमारी मदद नहीं कर रही हैं।

उनका कहना कि उनकी बात किसी भी थाने में नहीं सुनी जा रही हैं। वहीं वहीं मोहम्मद रुवेद के पिता ने इन आरोपों पर स्थानीय मीडिया से बातचीत के दौरान सफाई दी।

उन्‍होंने कहा कि वह कोई धर्म अपनाये मुझे फर्क नहीं पड़ता। मैं इससे परेशान हूँ, मेरी तीन बेटियां हैं और एक बेटा है। मेरी मर्जी है कि मैं मकान किसे दूं। उसे मैं ओवैसी की पार्टी AIMIM से दो बार पार्षद चुनाव लड़वा चुका हूं लेकिन वो दोनों बार हार गया।