एक बार फिर मुश्किलों में घिरे अर्नब गोस्वामी पुलिस ने अदालत से की वारंट जारी करने की मांग

अक्सर चर्चाओं में रहने वाले देश के नामी पत्रकार और रिपब्लिक टीवी के editor-in-chief अर्णब गोस्वामी एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। और इस बार उनके लिए मुश्किलें थोड़ी ज्यादा बढ़ गई है। बता दें कि बीते साल रिपब्लिक टीवी के editor-in-chief अर्णब गोस्वामी को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया था। हालांकि कुछ ही दिनों बाद अर्णव को जमानत भी मिल गई थी।

बता दें कि पत्रकार अर्नव गोस्वामी नवंबर 2020 में इंटीरियर डिज़ाइनर अन्वय नाइक और उनकी माँ को आ’त्मह#त्या के लिए उकसाने के आरोप में मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया था हालांकि इस केस में भी उन्हें उच्च न्यायालय से जमानत मिल गई थी लेकिन इस केस को लेकर एक बार फिर से अर्णव के लिए मुश्किलें खड़ी हो गयी हैं।

फिर खुला अन्वय नायक की मौ#त का मामला

पत्रकार अर्णव गोस्वामी को अन्वय नाइक की मौ#त के मामले में उच्च न्यायालय से जमानत तो मिल गई थी लेकिन अब एक बार फिर से यह मामला खुल गया है। बता दें कि नवंबर 2020 में मुंबई पुलिस ने अर्णव के साथ दो और लोगों को कथित अन्वय नायक की मौ#त के आरोप में गिरफ्तार किया था।

लेकिन अब यह मामला महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले की एक अदालत के सामने फिर से खुल गया है। जब यह मामला अलीबाग अदालत के सामने खुला तो पत्रकार अर्नव गोस्वामी पेशी के लिए हाजिर नहीं हुए जिसके बाद अर्णव के वकील ने पेशी से छूट मांगी।

अर्नव गोस्वामी की पेशी पर हाजिर ना रहने के बाद अभियोजन पक्ष ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई और यही नहीं उन्होंने अदालत से अर्नव समेत दो और आरोपियों के खिलाफ वारंट जारी करने अनुरोध किया।

वही इस मामले पर विशेष लोक योजक प्रदीप घरात ने कहा कि आरोपियों को अदालत में पेश होना चाहिए था क्योंकि यह अदालत द्वारा आरोपपत्र संज्ञान लेने के बाद पहली सुनवाई थी। बता दें कि पुलिस के आरोपपत्र पर संज्ञान लेने के बाद अदालत ने सभी आरोपियों को 7 जनवरी को पेश होने के लिए कहा था लेकिन तीनों आरोपियों में से एक भी अदालत के समक्ष पेश नहीं हुआ।

जब अभियोजक पक्ष ने तीनों के खिलाफ वारंट जारी करने की बात कही तो अदालत ने इस अर्जी को लंबित कर दिया अदालत का कहना है कि कोरोना वायरस के चलते 31 जनवरी तक सभी पाबंदियां लागू है ऐसे में इस तरह की कोई भी कार्यवाही नहीं की जा सकती। अब इस मामले की अगली सुनवाई 6 फरवरी को होगी।

अर्नब गोस्वामी का पुलिस पर आरोप

आपको बता दें कि अर्नब गोस्वामी समेत दो और आरोपियों पर यह आरोप लगाया गया है कि नाइक ने अपनी मां की ह#त्या कर दी और फिर अपने घर में खुद को फां’सी लगा ली क्योंकि वह तीनों आरोपियों की फर्मों का भुगतान ना कर पाने के कारण तनाव में थे जिससे उन्होंने यह कदम उठाया।

वहीं अब अर्नब गोस्वामी ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने कई साल पहले बंद हो चुका मामला फिर से खोला है। क्योंकि राज्य सरकार उन्हें परेशान करना चाहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *