VIDEO: अहमदाबाद में कल से सड़क किनारे नॉनवेज बेचने वाले ठेलों पर बैन, जाने क्या है वजह

गुजरात में भारतीय जनता पार्टी की सरकार का नेतृत्व कर रहे मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने बड़ा बयान दिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सूबे के कई जिलों में सड़कों से नॉनवेज और अंडे के ठेले ह’टाए जाने का मामला सामने आया है. इस मामले को लेकर सोमवार को सूबे के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने हैरान कर देने वाला बयान दिया है.

पटेल ने कहा कि लोगों के अलग-अलग खान-पान की आदतों के चलते हमें कोई समस्या नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि गंदगी के साथ खाने-पीने की चीजें बेचने वालों पर और शहर की सड़कों पर ट्रैफिक बढ़ाने वाले रेहड़ी वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती हैं.

लोग क्या खाते है इससे मतलब नहीं

सीएम भूपेंद्र पटेल आणंद जिले में अपनी पार्टी द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे, इसी दौरान उन्होंने हैरान कर देने वाला बयान दिया.

उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि लोग खाने में क्या खा रहे है, इससे सरकार को कोई मतलब नहीं है. कुछ लोग वेज खाना खाना पसंद करते है तो कुछ लोग नॉनवेज खाना खाते हैं. भारतीय जनता पार्टी की सरकार को इससे कोई समस्या नहीं है.

उन्होंने कहा कि लोगों के द्वारा विशेष ठेले सड़क से हटाए जाने की मांग उठाई जा रही है. हमारी चिंता यह है कि सड़क के किनारे रेहड़ी पर बेचा जा रहा खाना साफ-सुथरा होना चाहिए.

भूपेंद्र पटेल ने आगे कहा कि अगर सड़कों पर रेहड़ी वालों के चलते ट्रैफिक में कोई भी दिक्कत आ रही है तो स्थानीय निकाय अपने हिसाब से निर्णय ले सकते हैं. जगह की स्थिति को देखते हुए उचित फैसला स्थानीय नगर निगम या नगर पालिकाएं ले सकती हैं.

इसी बीच अहमदाबाद नगर निकाय ने बड़ा फैसला लिया है. खबरों के अनुसार अहमदाबाद में सड़क किनारे नॉन-वेज बेचने वाले रेहड़ी पर बैन लगाया गया है.

सड़क किनारे नॉनवेज बेचने पर बैन

रिपोर्ट्स के अनुसार बीजेपी शासित नगर निगम ने सार्वजनिक सड़कों, धार्मिक स्थलों और स्कूलों से 100 मीटर की दूरी पर लगने वाले सभी नॉनवेज खाने के ठेलों को ह’टाने का फैसला लिया हैं.

आपको बता दें कि अहमदाबाद में काफी वक्त से यह मांग की जा रही थी. लेकिन अहमदाबाद अकेला ऐसा जिला नहीं हैं बल्कि राजकोट, वडोदरा और द्वारका जैसे शहरों में भी नॉनवेज खाने की गाड़ियां सार्वजनिक जगहों से ह’टाने जाने की मांग उठाई जा रही हैं.