VIDEO: पूर्व भाजपा विधायक का बार-बालाओं के साथ वीडियो वायरल, मंदिर निर्माण के लिए 1 करोड़ का चंदा भी दे चुके हैं

अक्सर देश के दिग्गज राजनेता कभी अपने बयानों को लेकर तो कभी अपने कारनामों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं ऐसा ही एक कारनामा हाल ही में सामने आया है। जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी के विधायक की खूब आलोचना हो रही हैं। बीजेपी विधायक के सुर्खियों में रहने का कारण है। वायरल हो रहा एक वीडियो जिसमें बीजेपी के विधायक ठुमके लगाते हुए नजर आ रहे हैं.

आपको बता दें कि पूर्व विधायक सुरेंद्र बहादुर सिंह लालगंज के तेज़ गांव के रहने वाले हैं। सुरेंद्र बहादुर सिंह रायबरेली जिले की सरेनी सीट से विधायक रह चुके हैं। इससे पहले पूर्व विधायक सुरेंद्र बहादुर सिंह ने राम मंदिर निर्माण के लिए 1 करोड़ रुपए से ज्यादा का दान दिया था जिसके बाद से वे सुर्खियों में आ गए थे.

वायरल हो रहा विधायक का वीडियो

पूर्व विधायक ने 15 जनवरी के दिन राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट के सचिव चंपत राय को एक करोड़,11 लाख, 11 हज़ार, 11 सौ ग्यारह रुपये का दान दिया था। जिसके बाद वे चर्चा में आ गए थे। राम मंदिर निर्माण के लिए दान देते समय पूर्व विधायक ने कहा था कि मैं जीवन में बहुत कुछ करना चाहता हूं इसलिए जीना चाहता हूं.

राम मंदिर निर्माण के लिए दान करना एक अलग सोच है और इतना बड़ा दान करना एक अलग सोच है। उन्होंने आगे कहा कि राम मंदिर का इतिहास गवाह होगा वो इतना बड़ा है कि एक करोड रुपए उसके लिए कुछ नहीं है.

 

हमने सुना है कि राम मंदिर निर्माण के लिए उत्तर प्रदेश में अब तक 1 करोड रुपए दान में दिए जा चुके हैं। इसलिए हमने राशि बढ़ाकर इसे एक करोड़ से ज्यादा किया है ताकि दान देने में भी मजा आए.

राम मंदिर निर्माण के लिए 1 करोड़ रुपए दान देने के बाद सुर्खियों में आए पूर्व विधायक सुरेंद्र बहादुर सिंह का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह बार बालाओं के साथ ठुमके लगाते हुए नजर आ रहे हैं। जिसके बाद पूर्व विधायक के चरित्र पर सवाल उठ रहे हैं.

जानकारी के मुताबिक यह एक कर्ण छेदन प्रोग्राम था जिसमें पूर्व विधायक पहुंचे हुए थे जब लोगों ने उन्हें मंच पर आने के लिए कहा तो विधायक मंच पर पहुंच गए और बार बालाओं के साथ ठुमके लगाने लगे जिसके बाद किसी ने उनका वीडियो रिकॉर्ड कर वायरल कर दिया और तभी से पूर्व विधायक पर सवाल उठ रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *