लाउडस्पीकर से अज़ान को लेकर भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने जो कहा क्‍या वो हो पायेगा

अभी रामजान का महीना चल रहा है, जिसे मुस्लिम समुदाय के लिए बेहद पाक माना जाता हैं। एक तरफ जहां मुसलमान रोजा रखकर चांद का इंतजार करते हैं। वहीं दूसरी तरफ लाउडस्पीकर से अज़ान देने पर राजनीति गर्माती जा रही हैं। देश भर में लाउडस्पीकर पर अजान को लेकर बहस छिड़ गई है। मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक इस पर खूब चर्चा हैं।

इस पर आम से खास तक हर किसी की प्रतिक्रिया सामने आ रही हैं। इसी बीच बिहार के मंत्री जनक राम ने भी मस्जिदों में लाउडस्पीकर से दी जाने वाली अजान पर रोक लगाने की मांग की हैं।

लाउडस्पीकर से अज़ान पर विवाद

बिहार सरकार में मंत्री और बीजेपी नेता जनक ने संविधान का हवाला देते हुए कहा कि हिंदुओं के पर्व पर डीजे और तेज गति से वाहन चलाने पर रोक रहती हैं।

इसी संविधान के हवाले से मस्जिदों द्वारा तेज आवाज में बजने वाले लाउडस्पीकर पर भी रोक होना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि मस्जिदों के आसपास अन्य समुदायों के लोग भी रहते हैं।

बड़ी संख्‍या में छात्र-छात्राएं भी होती हैं, ऐसे में मस्जिदों से सुबह-सुबह तेज आवाज आने से उन्‍हें बाधाएं उत्पन्न होती है। उन्‍होंने यह भी कहा कि इस संबंध में हमें भी लगातार शिकायत मिलती रहती है।

वहीं अज़ान मुद्दे को लेकर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी हैं। उन्‍होंने कहा हैं कि कई मुस्लिम देशों में भी अज़ान माइक और लाउड स्‍पीकर पर नहीं दी जाती हैं।

घोष ने कहा कि बाहरी देशों में कोई भी माइक का इस्तेमाल नहीं करता है। ध्वनि प्रदूषण को देखते हुए कई देशों ने इस पर बैन लगा रखा है। ध्‍वनि प्रदूषण को ध्‍यान में रखते हुए ये फैसला लिया जा सकता हैं।

भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष की प्रतिक्रिया

वहीं इससे पहले भजन गायक अनुराधा पौडवाल ने भी लाउडस्पीकर पर अजान को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी थी। उन्‍होंने एक इंटरव्यू के दौरान लाउस्पीकर से अजान देने पर रोक लगाने की मांग की थी।

उन्‍होंने कहा कि मैं कई देशों में गई हूँ, इस दौरान मैंने पाया कि कहीं भी लाउडस्पीकर पर अजान नहीं होती हैं। मुस्लिम देशों में लाउड स्‍पीकर पर अजान देने पर बैन है।

उन्‍होंने आगे कहा कि मुझे समझ नहीं आता कि फिर इसकी भारत में आवश्यकता क्यों है। मैंने भारत के अलावा ऐसा होता कभी भी नहीं देखा है। मिडिल ईस्ट ने तक लाउडस्पीकर बैन कर रखा है तो भारत में क्‍यों नहीं हो सकता हैं?