LULU Mall विवाद: मुख्यमंत्री योगी बोले- राजनीति का अड्डा बना दिया, अधिकारियों को दिए ये सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हाल ही खुले लुलु मॉल में नमाज पढ़ने को लेकर मचा विवाद थमता ही नजर नहीं आ रहा हैं। इसी बीच इस मामले में मंगलवार सुबह लखनऊ पुलिस ने मॉल में नमाज पढ़ने के आरोप में चार लोगों को हिरासत में लिया हैं। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही हैं। वहीं अब इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीधा हस्तक्षेप किया हैं। सीएम ने इस मामले में ऐसे तत्वों पर प्रशासन से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। बता दें कि ये मामला लगातार विवादों में बना हुआ हैं।

राजनीति का अड्डा बना लुलु मॉल

इस मामले पर तमाम राजनीतिक दल भी अपनी प्रतिक्रिया लगातार दे रहे हैं। लुलु मॉल के घटनाक्रम पर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि राज्य में इन दिनों कुछ मामलों को जरिया बना कर राजनीति की जा रही हैं। कुछ लोग जनता के आवागमन को रोकने के लिए अपना जोर लगा रहे हैं और अनावश्यक रूप से टिप्प्णी और प्रदर्शन करने में लगे हैं। ऐसे लोगों और ऐसे मामलों में लखनऊ प्रशासन को पूरी गंभीरता दिखाते हुए सख्ती से निपटना चाहिए।

आपको बता दें कि हाल ही में लुलु मॉल से एक वीडियो सामने आया था, जिसमें कुछ लोग शहर में खुले नए मॉल में नमाज पढ़ते नजर आ रहे थे। इसके बाद से ही ये शॉपिंग मॉल विवादों में छाया हुआ था। वहीं नमाज की प्रतिक्रिया में कुछ हिंदू संगठनों ने भी हनुमान चालीसा पढ़ी थी। जिसके बाद मॉल के आसपास सुरक्षा बढ़ाकर आरोपियों को हिरासत में ले पूछताछ की जा रही है।

पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पीएसी लुलु मॉल की सुरक्षा में तैनात कर दी है और ड्रोन की मदद से अराजकतत्वों पर निगरानी की जा रही हैं। पुलिस ने आधा किलोमीटर पहले बैरिकेडिंग लगाकर चेकिंग करने के बाद ही मॉल के भीतर जाने दिया जा रहा हैं। मॉल प्रशासन ने इस मामले में बयान जारी कर कार्रवाई की मांग की है।

सुरक्षा के कई इंतजाम

एडीसीपी साउथ राजेश श्रीवास्तव के अनुसार मॉल में जवान तैनात किए गए हैं जो सादा वर्दी में है और बॉडी वार्म कैमरा लगाए हुए हैं। मॉल की सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट कर रखा हैं, पूरे इलाके पर ड्रोन से नजर रखी जा रही है। इस दौरान किसी पर भी शक होता हैं तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं।

एसीपी गोसाईंगंज स्वाति चौधरी के अनुसार मॉल को लेकर चल रहे विवाद को देखते हुए आधा किलोमीटर पहले से ही बैरिकेंडिंग लगाकर चेकिंग की जा रही है। पीएसी के साथ पुलिस बल भी तैनात किया गया है। हम हर एक व्यक्ति की चेकिंग कर रहे हैं, इसके बाद ही उन्हें अंदर जाने दिया जा रहा हैं।