दिल्ली के मुख्यमंत्री ने विधानसभा में कृषि कानूनों की कॉपी फाड़ी, कहा- BJP ने इलेक्शन फंडिंग का किया है जुगाड़

देश में किसान आंदोलन को चलते हुए अब महीना भर होने को है, किसान कोरोना महामारी और भीषण ठंड के बीच सरकार से यह लड़ाई लड़ रहे हैं। वहीं पंजाब और हरियाणा के किसान पिछले 20 दिनों से सिंधु बॉर्डर पर डटे हुए हैं किसानों का कहना है कि जब तक सरकार इन तीनों काले कानूनों को वापस नहीं लेती तब-तक वे यह आंदोलन को जारी रहेगा।

हलाकि केंद्र सरकार किसानों से लगातार यही कह रही है कि है तीनों कानून किसानों के हित में लेकिन किसान यह मानने को तैयार नहीं हैं। बता दें कि जब से देश में किसान आंदोलन शुरू हुआ है। तभी से देश के दिग्गज लोग लगातार किसान आंदोलन को समर्थन देते हुए दिखे हैं चाहे हो फिल्म जगत से हो या फिर खेल जगत से यहां तक की सभी विपक्षी पार्टियों ने भी किसान आंदोलन को पूरा समर्थन दिया था।

हाल ही में एक और मामला सामने आया है जब आम आदमी पार्टी के एक विधायक ने कृषि कानूनों की कॉपी को फाड़ दिया। बता दें कि दिल्ली विधानसभा में विशेष सत्र चल रहा था और इसी बीच यह मामला सामने आया जब एक AAP विधायक ने खड़े होकर तीनों कृषि कानूनों की कॉपी को फाड़ दिया।

सत्र के दौरान आम आदमी पार्टी के विधायक सुरेंद्र गोयल खड़े हुए और उन्होंने तीनों कृषि कानूनों की नकल को यह कहते हुए फाड़ दिया कि मैंने इन तीनों काले कानूनों को स्वीकार करने से इंकार कर दिया है जो कि किसानों के खिलाफ है।

आपको यह भी बता दें कि आम आदमी पार्टी इससे पहले भी किसान आंदोलन को पूरा समर्थन देती हुई देखी थी यहां तक कि आम आदमी पार्टी के विधायक किसानों के समर्थन में भूख हड़ताल पर भी बैठ गए थे।

वही आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी किसानों से मिलने गए और आज फिर से आम आदमी पार्टी के ही विधायक ने तीनों काले कानूनों की कॉपी को फाड़ दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *