ED ने ममता के भतीजे को दिल्‍ली बुलाया, इधर कोलकाता पुलिस ने उठाया ये कदम

कोलकाता पुलिस ने दिल्ली में तैनात एक वरिष्ठ अधिकारी समेत प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के कई अफसरों को ऑडियो टेप लीक मामले में समन भेजा है. पीटीआई ने पश्चिम बंगाल के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के हवाले से बताया है कि टेप लीक मामले में बंगाल पुलिस के अधिकारी ईडी के इन अफसरों से पूछताछ करेंगे।

कोलकाता पुलिस करेगी ईडी अफसरों से पूछताछ

सोमवार, 21 मार्च को ईडी के अधिकारियों को कोलकाता के कालीघाट पुलिस स्टेशन में आने के लिए कहा गया है।
बता दें कि बंगाल के उस कारोबारी के खिलाफ कोलकाता पुलिस जांच कर रही है जो एक कथित ऑडियो टेप में कोयले की तस्करी को लेकर ईडी के एक अधिकारी से बातचीत करते सुनाई दे रहा है.

साल 2021 के राज्‍य के विधानसभा चुनाव से पहले यह कथित ऑडियो टेप लीक हुआ था. बंगाल पुलिस को संदेह है कि इस टेप को लीक करने के पीछे ईडी के कुछ अधिकारी शामिल है।

वहीं दूसरी तर‍फ 21 मार्च, सोमवार को दिल्ली में तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी और उनकी पत्नी रुजिरा बनर्जी पूछताछ के लिए ईडी के सामने पेश होंगे. पश्चिम बंगाल के कोयला घोटाला से जुड़े मामले में उन से पूछताछ की जा रही है।

ईडी करेगी अभिषेक बनर्जी से पूछताछ

इस बीच अभिषेक बनर्जी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि केंद्र की बीजेपी सरकार पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में मिली करारी हार का बदला लेने के लिए अपने राजनीतिक हितों को साधने के लिए ईडी और सीबीआई का इस्तेमाल कर रही है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट्स के अनुसार अभिषेक बनर्जी ने कहा कि बीजेपी टीएमसी को बर्दाश्त नहीं कर पा रही है, अगर ईडी निष्‍पक्ष होती तो उस शख्‍स से पूछताछ की जाती जो नारद स्टिंग वीडियो में पैसे लेते नजर आया था।

सारदा चिटफंड के मालिक सुदीप्तो सेन जो जेल में हैं ने कोर्ट में दिए बयान में उस व्यक्ति का नाम भी लिया था, जिसने उनसे पैसे लिए थे. लेकिन ईडी ने उस आरोपी से एक बार भी पूछताछ नहीं की।

ममता बनर्जी के भतीजे ने आगे कहा कि मैंने एक जनसभा में नवम्बर 2020 में कहा था कि यदि कोई मेरे खिलाफ लगे 10 पैसे की अनियमितता के आरोप को भी साबित कर देता है तो मैं खुद लोगों के सामने आकर फांसी लगा लूंगा. मेरे पीछे सीबीआई और ईडी लगाने की जरूरत नहीं है.

आपको बता दें कि अभिषेक बनर्जी से ईडी ने सितंबर 2021 में भी कोयला घोटाले के इस मामले में 8 घंटे से ज्यादा समय तक पूछताछ की थी.