इश्क में दिवानी हुई महिला मुखिया कुर्सी छोड़, अपने प्रेमी के साथ हुई फरार

बिहार के जिले सीतामढ़ी से एक इश्‍कबाजी का अनोखा मामला सामने आया है, मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जिले में नवनिर्वाचित महिला मुखिया ने एक ऐसा कदम उठाया है, जिससे अब पूरा गांव परेशान में पड़ गया है। अब ग्रामीण यह नहीं समझ पा रहे है कि उन्‍हें अब क्‍या करना चाहिए।

मुखिया की कुर्सी को लात मार फरार हुई महिला

दरअसल ग्रामीणों ने अपने क्षेत्र में विकास के नाम पर जिस महिला को वोट देकर पंचायत की मुखिया की कुर्सी बिठाया था, वह महिला इश्क के चक्कर में अपने प्रेमी के साथ गांव से फरार हो गई.

बताया जा रहा है कि महिला मुखिया की कुर्सी को लात मार अपने प्रेमी के साथ फुर हो गई है जिसके बाद पंचायत के लोग खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहेे हैं.

जानकारी के अनुसार कन्हौली थाना क्षेत्र के खोपराहा पंचायत के लोगों ने अपना कीमती वोट देकर पंचायत चुनाव में महिला रेखा देवी को मुखिया बनाया था.

ग्रामीणों के अनुसार मुखिया के पति से उन्हें पता चला कि रेखा देवी अपने मुखिया पद और बच्चों को छोड़कर अपने आशिक के साथ फरार हो गई है।

वहीं रेखा देवी के भाग जाने से गांव में आक्रोश देखने को मिल रहा है। वहीं इस बीच मुखिया पति ने मामले के बाद गांव के ही दो भाइयों पर शादी करने की नीयत से अपनी मुखिया पत्नी को अगवा करने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है.

मुखिया पति की शिकायत के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। मुखिया पति ने इस मामले में दो भाइयों के पिता को भी आरोपी बनाया है.

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि मुखिया रेखा देवी के दो बच्चे हैं. इस बार के पंचायत चुनाव में रेखा देवी पर विश्वास जाताते हुए खोपराहा पंचायत के लोगों ने उन्‍हें मुखिया चुना था।

पिछले 9 मार्च को रेखा देवी सुबह अपने घर से निकली और उसी के बाद से गायब है। परिजनों ने खोजबीन कर हर संभव प्रयास किया लेकिन कुछ पता नहीं चला.

इसके बाद मुखिया पति ने अपनी पत्नी और गांव की मुखिया के प्रेम संबंधों को उजागर करते हुए गांव के तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. पुलिस मामले की जांच कर रही हैॅ और महिला की खोज भी जारी है।