जानिये कैसा है नाना पाटेकर का जीवन, संजय दत्त से करते हैं नफरत

अपने दमदार अभिनय की प्रतिभा से फैंस के दिल में जगह बनाने वाले नाना पाटेकर ने 1 जनवरी को अपना 71वां जन्मदिन मनाया है। नाना का जन्म 1 जनवरी 1951 में हुआ था। नाना पाटेकर उर्फ विश्वनाथ पाटेकर एक्टिंग के सबसे मंजे हुए कलाकार में से एक हैं। उनकी हर फिल्म अपने आप में खास रही है।

नाना पाटेकर के कई ऐसे डायलॉग है जो लोगों के बीच काफी मशहूर हैं। नाना की लाइफ की कई बाते हैं, जो लोग नहीं जानते होंगे। तो चलिए हम आपको बताते हैं उनके जीवन के कुछ पहेलू। नाना पाटेकर का बचपन बेहद ही गरीबी में गुजरा था। उन्होंने सिर्फ 13 साल की उम्र से ही काम करना शुरू कर दिया था। स्कूल के बाद नाना 8 किलोमीटर दूर चूना भट्टी में जाकर फिल्मों के पोस्टर्स पेंट करते थे।

image source: google

दिल खोल कर जरुरतमंदों की मदद करते है

वैसे नाना पाटेकर को सादगी बहुत ही पसंद है और उन्हे आलीशान जिंदगी जीना पसंद नहीं है। आज भी नाना एक छोटे से फ्लैट में ही रहते हैं। लेकिन, जरुरतमंदों की मदद करने में नाना पाटेकर हमेशा आगे ही रहते हैं। नाना पाटेकर ने करियर में एक से बढ़कर एक फिल्में की है।

बहुत ही कम लोग जानते है की नाना पाटेकर असल जिंदगी में बेहद ही आम इंसान हैं। नाना पाटेकर खाना बनाने के बहुत शौकिन है। वो अक्सर ही अपने दोस्तों के लिए खुद खाना बनाते हैं। एक बार उन्होने इंटरव्यू में भी यह कहा भी था कि वो एक एक्टर से ज्यादा बेहतर एक कुक हैं।

image source: google

नाना पाटेकर का फिल्मी सफर

अपने फिल्म कॅरियर की शुरुआत नाना पाटेकर ने साल 1978 में आई फिल्म ‘गमन’ से की थी। इसके बाद उन्होंने गिद्द, अंकुश, प्रहार, प्रतिघात जैसी फिल्मों में अपने अभिनय की एक अनोखी छाप छोड़ी। नाना पाटेकर अक्सर ऐसे ही किरदारों में नजर आते हैं जो निडर होता है।

नाना पाटेकर मिनटों तक लगातार डायलोग बोल सकते हैं और सहज अभिनय ही उनकी यूएसपी है। फिल्मों में उन्होंने जो शानदार मोनोलॉग किया है वो हर एक्टर के बस की बात नहीं होती। उन्होंने हिंदी के अलावा, मराठी समेत कई भाषाओं की फिल्मों में भी काम किया है।

image source: google

नाना पाटेकर का परिवार

नाना पाटेकर ने थिएटर आर्टिस्ट नीलू उर्फ नीलकांति से शादी की थी। नाना पाटेकर पत्नी नीलू से अलग रहते हैं। लेकीन, उनका तलाक नहीं हुआ है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नाना का अफेयर मनीषा कोइराला से चल रहा था और इसी वजह से पत्नी उन्हें छोड़कर चली गई थीं।

हालांकि, नाना ऐसी किसी भी बात से इनकार करते हैं। एक इंटरव्यू में नाना पाटेकर ने बताया था- हम आज भी अक्सर मिलते हैं और एक-दूसरे का ख्याल रखते हैं। नाना पाटेकर के बडे बेटे की मृत्यु हो गई है। अपने बेटे की मौत का सदमा अभी भी नाना नही भुला पाए है।

नाना ने जिस भी फिल्म में अभिनय किया उस पर अपने नाम की मुहर लगा दी। उनके द्वारा बोले गए संवाद को बोलने के लिए आज भी लोग शर्तें लगाते हैं, और उनके जैसा ही हुनर पाने की कोशिश भी करते हैं। नाना ने अपने अभिनय के बलबुते पर चार फिल्मफेयर और तीन राष्ट्रीय फिल्म अवार्ड जीते हैं।

अब तक सिर्फ नाना ही ऐसे अभिनेता हैं जिन्होंने हिंदी सिनेमा जगट में मुख्य कलाकार, सह कलाकार और नकारात्मक भूमिका निभाने में फिल्मफेयर अवार्ड जीता है।

संजय दत्त के साथ है जाति मनमुटाव

नाना पाटेकर ने क भीभी संजय दत्त के साथ काम नहीं किया हैं। बात कुछ इस तरह से है की 12 मार्च 1993 के दिन मुंबई में जो सीरियल बम ब्लास्ट हुआ था उस ब्लास्ट में संजय दत्त को आरोपी करार दिया गया था। इसी ब्लास्ट में नाना पाटेकर के भाई का भी मृत्यू हो गया था।

नाना पाटेकर ने एक इंटव्यू में भी यह कहा था कि वह संजय दत्त को कभी भी माफ नहीं कर सकते। साथ ही उन्होनेअपने इंटरव्यू में यह भी कि संजय दत्त ने भले ही बम ब्लास्ट मकी सजा काट ली हो लेकिन वो उन्हे कभी माफ नही करेंगे और उनके साथ काम नहीं करेंगे।