दुनिया को बस में करने के लिए ख़रीदा “अलादीन का चिराग” और अब आ गए सड़क पे

उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है, जहां पर दो तंत्रिकाओं ने एक लंदन रिर्टन डॉक्टर को झांसा देकर 31 लाख रूपये का चुना पोल दिया है. बताया जा रहा है कि पुलिस ने झांसा देने वाले दोनों तांत्रिकों को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपियों की पहचान तांत्रिक अनीस और इकरामुद्दीन के नाम से हुई है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार खैरनगर निवासी डॉ. लईक खान फिजीशन हैं.

लईक ने अपनी एफआरएचएस की पढ़ाई लंदन से पूरी की है, इसके बाद वो साल 2018 में समीना नाम की बागपत रोड निवासी महिला अपने ऑपरेशन के बाद डॉक्टर लईक के संपर्क में आई थी. डॉक्टर लईक ने बताया कि इसके बाद वो अक्सर ही महिला की मरहम पट्टी करने के लिए उसके घर जाया करते थे.

करीब दो महीने उनका इलाज चला, इसी बीच अचानक से एक तांत्रिक बाबा को लेकर आई. उन्होंने कहा कि बाबा के पास अलाद्दीन का चिराग है जो सभी मांगें पूरी करता है. जिस पर डॉक्टर को भरोसा नहीं हुआ.

इसके बाद पहले तो डॉक्टर को विश्वास दिलाया गया और फिर उनके परिवार के साथ गलत होने का डर दिखाकर इस अलादीन के नकली चिराग का सौदा तय किया गया. डॉ. ने बताया कि एक ठग ने चिराग को रगडा और दूसरा पोशाक पहन जिन्न के तौर पर पेश हुआ.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डॉक्टर को झांसे में लेने के लिए अपनी तंत्र विद्या से दोनों ठगों ने चिराग रगड़कर जिन्न को बुलाया जिसके बाद डॉ. खान को यकीन हो गया और उन्होंने लैंप को अलादीन का चिराग समझकर सौदा पक्का कर लिया. लेकिन खान को बड़ा में पता चला कि चिराग रगड़ने से कोई असली जिन्न नहीं आया बल्कि वो तो नकली था.

डॉ. लईक के अनुसार जिन्न को प्रकट करने के लिए जिस सुगंधित इत्र की जरूरत होती है उसकी कीमत तांत्रिक ने 12 हजार बताई. जिन्न को प्रकट करने के लिए डॉक्टर ने कई बार उसे मंगाया, चिराग बेचने के एवज में ठगों ने किस्तों के तौर पर करीब ढाई लाख की रकम वसूली.

दोनों ठग जादुई चिराग को 1.5 करोड़ रुपये में बेचना चाहते हैं. इस पर डॉक्टर ने उन्हें 31 लाख रुपये डाउन पेमेंट दिया. पुलिस ने आरोपी इस्लामुद्दीन और उसके साथी अनीस को गिरफ्तार कर लिया है जबकि महिला की तलाश जारी है.

साभार- जी न्यूज़