पश्चिम बंगाल: उद्घाटन से पहले ही बंद हुआ Jio स्टोर, लोग बोले इसका ये हाल है तो बीजेपी का क्या होगा

कहते हैं कि चुनाव में कब किधर पासा पलट जाए कुछ कहा नहीं जा सकता लेकिन फिर भी कुछ घटनाओं से यह अंदाजा जरूर लगाया जा सकता है कि चुनाव आखिर किस दिशा में जाएगा। ऐसा ही कुछ इन दिनों बंगाल में दिखाई दे रहा है। जहां पर इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं। लेकिन बंगाल में इस समय कुछ ऐसी घटनाएं हो रही हैं जिससे यह लग रहा है कि चुनाव का असर क्या होगा।

यूं तो हर चुनाव में देश की सभी पार्टियां ही बढ़-चढ़कर तैयारियां करती है लेकिन इन दिनों भारतीय जनता पार्टी बंगाल के चुनावों को लेकर जमकर तैयारियां कर रही है। बता दें इससे पहले भी हाल ही में हैदराबाद में हुए चुनावों में बीजेपी ने अपने दिग्गज नेताओं को जमीन पर उतार दिया था और बंगाल चुनाव में भी बीजेपी जमकर तैयारी कर रही है।

क्योंकि जब भाजपा के लिए सत्ता की बात आती है। तो वह बिल्कुल बौखला जाती है। लेकिन किसान आंदोलन में हो रहे भारतीय जनता पार्टी के विरोध के बाद यह कयास लगाए जा रहे हैं कि बंगाल चुनाव में बीजेपी को तगड़ा झटका लग सकता है।

बंगाल में रिलायंस इंडस्ट्री का जमकर विरोध

आपको बता दें कि जब से किसान आंदोलन शुरू हुआ है किसान देश के उद्योगपतियों के खिलाफ भी विरोध प्रकट कर रहे हैं। हाल ही में रिलायंस इंडस्ट्री को किसानों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

इससे पहले भी किसानों ने हरियाणा के सोनीपत में रिलायंस के मॉल को ताला लगा दिया था वहीं इसके अलावा कई जगहों पर रिलायंस जिओ के टावर भी उखाड़ दिए थे और अब इसकी गूंज बंगाल में भी सुनाई देने लगी है। बंगाल में भी किसानों ने रिलायंस इंडस्ट्री का विरोध करना शुरू कर दिया है और इसकी शुरुआत हुई जलपाईगुड़ी से।

जलपाईगुड़ी में रिलायंस स्टोर उद्घाटन से पहले ही बंद

हाल ही में जलपाईगुड़ी से एक बड़ी खबर सामने आई है जिसमें रिलायंस स्टोर को उसके उद्घाटन से पहले ही बंद कर दिया गया। स्वराज इंडिया के पूर्व पत्रकार आवेश तिवारी ने अपनी फेसबुक पर इसकी एक तस्वीर भी शेयर कि उन्होंने तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा कि “यह जलपाईगुड़ी का रिलायंस स्टोर है। जिसे उद्घाटन से पहले ही बंद कर दिया गया।

जैसे-जैसे किसान आंदोलन परवान पर चल रहा है बंगाल में बीजेपी का ग्राफ नीचे गिर रहा है। संभव है कि मोदी चुनाव आयोग से तारीख आगे बढ़ाने की बात कहें, मोदी सिर्फ एक चीज से डरते हैं और वह है चुनाव”. क्योंकि जब बंगाल में अंबानी का ही यह हाल है तो बीजेपी का क्या हाल होगा।

ऐसे में अब देखना होगा कि किसानों के रिलायंस इंडस्ट्रीज के विरोध से बंगाल चुनाव में भारतीय जनता पार्टी पर क्या असर पड़ता है हालांकि यह भी बात सामने आ रही है कि पार्टी को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *