सत्ता के लोभी राजपूतों ने मुगलों को बेची थी बेटी, बीजेपी विधायक के बयान पर क’टा बवाल

भारतीय जनता पार्टी के विधायक और हिंदूवादी नेता रामेश्वर शर्मा ने मुगल इतिहास पर एक बड़ी टि’प्पणी की है. उन्होंने कहा कि अकबर और जोधाबाई में कोई प्रेम नहीं था. यह शादी सत्ता के लोभियों के चलते हुई थी, ऐसे लोभियों से सावधान रहने की आवश्यकता है. एक संवाद के दौरान उन्होंने यह भी कहा कि हमें आज भी अकबर महान बताया जाता है.

उन्होंने कहा कि हमें महाराणा प्रताप के वंशजों के बारे में कुछ भी नहीं बताया जाता है जो जान बचाने के लिए लगातार जंगलों में छिपते रहे. बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा सागर में हुए हिंदुत्व धर्म संवाद में हिस्सा लेने पहुंचे थे.

अकबर-जोधाबाई में नही था आई लव यू

इस दौरान उन्होंने अकबर-जोधाबाई के प्रसंग संदर्भ के दौरान राजपूतों पर टिप्पणी करते हुए यह बात कहीं. उन्होंने कहा कि सत्ता के लालच में बेटियों को दांव पर लगाने वाले लु’टेरों से भी सावधान रहने की जरूरत है.

शर्मा ने आगे कहा कि इन लोगों ने अपने होते हुए धर्म को धोखा दिया. जोधाबाई और अकबर के बीच कोई आई लव यू नहीं था. क्या था? कहीं मिले थे? किसी कॉपी हाउस में? या जिम में?

जब लोग सत्ता के लोभ में पड़ जाते है तो सत्ता हासिल करने के लिए बेटी को भी दांव पर लगा दिया. ऐसे लु’टे’रों से भी सावधान रहने की जरूरत हैं.

बीजेपी विधायक को अपनी यह टिप्पणी अब भारी पड़ रही है. सोशल मीडिया पर उनकी टिप्प’णी की जमकर आलो’चना हुई. उनकी भाषण के कुछ क्लिप लगातार वायरल हो रहे है जिन्हें लेकर बीजेपी विधायक को खूब ट्रोल किया जा रहा है.

राजपूत हुए नाराज़, मांगनी पड़ी माफ़ी

उनकी टिप्प’णी पर भारी नाराजगी देखने को मिल रही हैं. संबोधनों के अंश सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे है, जिसके बाद राजपूत समाज में उनके खिलाफ जबरदस्त नारा’जगी सामने आई है. राजपूत समाज ने बीजेपी विधायक की आलो’चना करते हुए उन से मांफी की मांग उठाई.

मामला इतना बढ़ गया है कि अब बीजेपी विधायक शर्मा को माफ़ी मांगनी पड़ी है. शर्मा ने एक बयान जारी करके राजपूत समाज से माफ़ी मांगते हुए कहा है कि उन्होंने वो टिप्प’णी मुगलों की चालाकी और फूट करो राज करो की नीति के संदर्भ में की थी.

उन्होंने कहा कि राजपूत समाज हमेशा से हिं’दुत्व का रक्ष’क रहा है और क्ष्र’त्रिय वीरों की गाथाएं देश को हमेशा  से गौरवांवित किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *