कपिल मिश्रा के द्वारा किये गए बेहद घटिया ट्वीट, देखकर किसी भी महिला का सर शर्म से झुक जायेगा

नई दिल्लीः अक्सर भड़काऊ और बेहूदा बयान देने वाले भारतीय जनता पार्टी के नेता कपिल मिश्रा एक बार फिर चर्चा में. और इस बार तो कपिल मिश्रा ने सारी हदें ही पार कर दी. बता दें कि बीते 70 दिनों से देश में किसान आंदोलन चल रहा है जिसका देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोग समर्थन कर रहे हैं. और बीते मंगलवार की शाम पॉप स्टार रिहाना के ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर जमकर हं’गामा मच गया।

बता दें अमेरिकी पॉप स्टार रिहाना के ट्वीट करने के बाद ही अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की भांजी मीना हैरिस और जलवायु एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने भी किसानों के समर्थन में ट्वीट कर दिया. जिसके बाद मेन स्ट्रीम मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक ब’वाल मच गया।

क्या कहा भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने

रिहाना के ट्वीट के बाद ट्विटर पर ब’वाल मचा हुआ है। एक ओर जहां देश की बॉलीवुड हस्तियां रिहाना को देश के आंतरिक मामलों में दखल ना देने की सलाह दे रहे है तो वहीं कुछ राजनेता भी इसी लिस्ट में शामिल है लेकिन भारतीय जनता पार्टी के नेता कपिल मिश्रा ने तो इन से भी बढ़कर कह डाला जिससे उनके और किसी बेहद घटिया किस्म के ट्रोल के बीच का फर्क मिट गया।

आपको बता दें कि बीजेपी नेता कपिल मिश्रा इससे पहले भी किसान आंदोलन को लेकर भड़काऊ बयान दे चुके हैं। पहले भी उन्होंने किसानों को खालिस्तानी और आ’तंक’वा’दी तक कहा था। किसानों के राजधानी दिल्ली में घुसने पर कपिल मिश्रा ने कहा था कि दिल्ली में खालिस्तानी आ#तंकी घुस आए हैं।

लेकिन किसान आंदोलन को रिहाना, ग्रेटा थनवर्ग, कमला हैरिस की भांजी मीना हैरिस और मियां खलीफा के समर्थन देने पर कपिल मिश्रा ने न सिर्फ आ’प’त्ति जताई है बल्कि बे’हूदा बयान भी दिया है।

आपको बता दें कपिल मिश्रा द्वारा किये गए ट्वीट के बारे में लिखा तो नहीं जा सकता लेकिन आप इतने समझदार तो हैं कि कपिल मिश्रा के ट्वीट से आप यह अंदाजा तो लगा सकते हैं कि वह किस मानसिकता के इंसान हैं।

यही नहीं कपिल मिश्रा उस सनातनी संस्कृति से वास्ता रखते हैं जिसमें औरतों को देवी का स्थान दिया जाता है लेकिन ट्वीट में कपिल मिश्रा जो कहना चाह रहे हैं उससे यह साफ पता चलता है कि उन्होंने इन औरतों के चरित्र पर ह#मला किया है। अब बहादुर कपिल मिश्रा ने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया। लेकिन कपिल मिश्रा का एक और ट्वीट दिखाते हैं।

कपिल मिश्रा ने बीती शाम अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि “S क्स कामुकता नं#गई और ह’वस की गोद में ले जाकर बिठा दिया फर्जी किसान आंदोलन को। एक हफ्ते पहले एक पवित्र निशान इस आंदोलन का प्रतीक बनकर लहराया गया था और आज?

ट्वीट से यह साफ पता चलता है कि वे निशान साहिब के पवित्र होने की बात कर रहे हैं और उसके साथ से क्स और का#मु’कता जैसे शब्दों को रख रहे हैं। सीधे शब्दों में वे निशान साहिब को पवित्र और किसान आंदोलन को समर्थन देने वाली रिहाना, ग्रेटा थनबर्ग और मियां खलीफा को अ’प’वित्र बता रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *