मैकेनिक की बेटी कर गयी टॉप ‘CA इंटरमीडिएट परीक्षा में, बड़ी मुस्किल से चुकाए थे फीस के पैसे

एक मामूली मैकेनिक की बेटी ने 'CA इंटरमीडिएट एग्ज़ाम' में टॉप किया है, फीस के पैसे तक इंटर्नशिप करके चुकाए थे

न पढ़ने के लिए अलग कमरा, न घर का उस जैसा माहौल, पर लगन कुछ कर दिखाने का जज्बा है अपने पापा के सपनों को पूरा करने का जी हाँ 24 साल की जरीन बेगम युसूफ खान ने चार्टर्ड एकाउंटेंसी (CA) इंटरमीडिएट एग्जामिनेशन में पूरे देश में टॉप किया है. जरीन ने आजतक को बताया कि ‘मुझे विश्वास नहीं हुआ कि मैंने टॉप किया है।

मैंने पूरे देश में पहले नंबर पर आने के बारे में सोचा ही नहीं था, आपको बता दें जरीन ने साल 2017 में अप्लाई किया था और बीच में दो साल का गैप भी लिया. वही उन्होंने एक कंपनी में एक साल तक इंटर्नशिप की ताकि सीए की क्लास की फीस भर सके. और जब ये एग्जाम कंडक्ट हुआ तो कुल 4 हजार 94 छात्रों ने ये एग्जाम दिया, जिसका परिणाम 8 फरवरी को आया था।

पढ़ाई की फीस के लिए कंपनी में की इंटर्नशिप

आपको बता दें जरीन बेगम ने इस एग्जाम में 65.86 प्रतिशत के साथ टॉप किया है. गौरतलब है कि, कोविड-19 के चलते इस एग्जाम को कई बार टाला गया, बता दें जरीन बेगम युसूफ खान, ठाणे जिले के मुंब्रा में 300 फीट स्क्वायर के मात्र एक छोटे से घर में अपने छोटे भाई-बहनों और माता-पिता के साथ रहती हैं।

जरीन ने बताया कि छोटा सा कमरा होने की वजह से वो पूरी रात घर की रसोई में पढ़ाई किया करती थीं. जरीन ठाणे स्थित एक कंपनी में करीब एक साल इंटर्नशिप की थी जिससे उन्होंने अपनी सीए की क्लासेज की फीस भरी। क्योकि उनके पिता मैकेनिक है, जिनकी कमाई से बा मुश्किल घर ही चल पाता है।

जरीन ने बताया कि उन्होंने पिछले साल एग्जाम दिया था और एग्जाम में शामिल होने को लेकर वह काफी डरी हुई थी. हलाकि लॉकडाउन के समय उन्होंने अपनी पढ़ाई पर फोकस करने के लिए और अधिक समय मिला. जरीन ने कहा कि उनका घर सड़क के किनारे है जिसके चलते आसपास काफी शोर रहता है, इसके बाबजूद भी वह सारि रात पढ़ाई करती थी।

आपको बता दें जरीन के पिता एक मैकेनिक हैं और इनकी मां हाउस वाइफ हैं. जरीन के दोनों भाइयों ने पिछले ही साल 10वीं क्लास के एग्जाम दिए हैं. जरीन की बहन ने भी बीएससी की पढ़ाई कर रही है और अब नौकरी कर रही है।