आबकारी विभाग को स्थानीय शख्स द्वारा लिखी चिट्ठी से स्मृति ईरानी की बेटी के बार के मामले में आया नया मोड़, जानिए चिट्ठी में क्या हैं?

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी पर लगे मामलों में अब एक नया मोड़ आया हैं। स्मृति की बेटी पर कांग्रेस ने आरोप लगाते हुए दावा किया था कि गोवा के असगाओ में जो सिली सोल्स कैफे और बार हैं, वह स्मृति की बेटी द्वारा चलाया जाता था। इसके साथ ही आरोप ये भी था कि इस बार के लाइसेंस का नवीनीकरण एक मृ’त व्यक्ति के नाम पर धोखाधड़ी से किया गया था। अब कांग्रेस के ये आरोप सवालों के घेरे में आकर खड़े हो गए हैं। दरअसल एक स्थानीय परिवार ने इस प्रतिष्ठान का मालिक होने का दावा किया हैं। उन्होंने राज्य उत्पाद शुल्क को भी इस बारे में सूचना देते हुए कहा कि ये संपत्ति विशेष तौर पर इनका व्यवसाय है और इसमें कोई अन्य व्यक्ति पार्टनर या किसी भी रूप में शामिल नहीं है।

स्मृति की बेटी के बार के मामले में नया मोड़

आबकारी आयुक्त के एक कारण बताओ नोटिस के जवाब में मालिकों मेरलिन एंथोनी डी गामा और उनके बेटे डीन डी गामा ने बताया कि उन्होंने गोवा उत्पाद शुल्क अधिनियम के किसी भी प्रावधान का उल्लंघन नहीं किया हैं। बता दें कि विभाग ने यह कारण बताओ नोटिस वकील एरेस रोड्रिग्स द्वारा दायर एक शिकायत के बाद जारी किया था। इस शिकायत में आरोप लगाया गया था कि कैफे के शराब लाइसेंस को एक एंथनी डी गामा के नाम पर जून में नवीनीकृत कराया गया हैं, जबकि यह शख्स मई 2021 में इस दुनिया को अलविदा कह चुका हैं। जिसकी मृ’त्यु का प्रमाण पत्र बृहन्मुंबई नगर निगम द्वारा जारी किया गया था।

22 जून को कहा गया कि 20 अगस्त 2021 से इस संपत्ति की पावर ऑफ अटॉर्नी रखने वाले मर्लिन और डीन ने एंथनी का मृ’त्यु प्रमाणपत्र जमा कर शराब लाइसेंस के नवीनीकरण के लिए आवेदन किया था। इस आवेदन में डीन को एक अंडरटेकिंग देने की बात करते हुए कहा गया था कि लाइसेंस 6 महीने के भीतर ट्रांसफर कर दिया जाएगा। इसे लेकर डी गामा परिवार ने यह भी कहा हैं कि उनके खिलाफ की गई शिकायत और उन्हें जारी किए गए कारण बताओ नोटिस के चलते प्रतिवादी संख्या 1 जो 75 वर्ष से ज्यादा के है, उन्हें तनाव, गंभीर मानसिक यातना और पीड़ा का सामना करना पड़ा हैं। जबकि प्रतिवादी संख्या 2 जो एक एक छोटे बच्चे की देखभाल करते हैं उन्हें भी तनाव झेलना पड़ा हैं।

कांग्रेस के दावे सवालों के घेरे में

कांग्रेस नेताओं ने 23 जुलाई को स्मृति ईरानी की बेटी द्वारा कथित तौर पर चलाए जा रहे “अवैध रेस्तरां और बार” को लेकर उनसे इस्तीफे देने की मांग की थी। इसके साथ ही कांग्रेस ने एक कथित इंटरव्यू के एक वीडियो क्लिप का हवाला भी दिया जिसमें ईरानी की बेटी को “युवा उद्यमी” के तौर पर परिचित कराते हुए वीडियों में सिली सोल्स कैफे एंड बार को उनका रेस्तरां बताया गया था। इस मामले को लेकर कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि असगाओ के सिली सोल्स कैफे और बार को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी संचालित करती हैं। साथ ही आरोप लगाया गया था कि इस बार के लिए लाइसेंस का नवीनीकरण एक मृत व्यक्ति के नाम पर धोखाधड़ी से कराया गया हैं।