दीपावली से पहले गहलोत सरकार ने पटा’खों की बिक्री पर लगाई रोक, मचा बवा’ल

राजस्थान सरकार ने एक बड़ा कदम उठाते हुए कोरोना महामा’री को देखते हुए सूबे में पटा’खों की ब्रिकी पर प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है. राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने कोरोनो वायरस महा’मारी को मद्देनजर रखते हुए त्योहारी सीजन के दौरान पटा’खों की बिक्री पर प्रतिबंध करने की घोषणा की है. इसके साथ ही कोरोना वायरस के चलते 16 नवंबर तक स्कूल और कॉलेज बंद रखने का फैसला लिया गया हैं.

सूबे की कांग्रेस सरकार ने कहा कि आम लोगों के स्वास्थ्य और कोरोना संक्र’मि’त रोगि’यों के स्वास्थ्य की रक्षा को ध्यान में रखते हुए पटा’खों की बिक्री पर प्रतिबं’ध लगाने का फैसला लिया गया हैं.

सरकार ने कहा कि पटाखों से निकलने वाले धुएं से लोग असहज महसूस कर सकते है ऐसे में सरकार ने यह कदम उठाया है. इसके आलावा पटा’खों की बिक्री के लिए अस्थायी लाइसें’स पर भी प्रतिबंध लगाने की घोषणा सरकार द्वारा की गई हैं.

रविवार को सूबे के सीएम अशोक गहलोत ने कोरोनो वायरस स्थिति की समीक्षा करने के लिए बैठक बुलाई और इसके बाद कहा कि इस चुनौतीपू’र्ण वक्त में लोगों के जीवन की सुरक्षा करना सरकार की प्राथमिक’ता है. उन्होंने कहा कि इसी को देखते हुए शादि’यों और अन्य समारोहों में भी आ’तिशबा’जी बंद कर दी जानी चाहिए.

गहलोत ने कहा कि बिना फिटनेस सर्टिफिकेट के सड़कों पर दौ’ड़ रहे वाहनों पर भी सख्त कार्रवाई की जानी चाहिये. वहीं अनलॉक-6 के दिशानिर्देशों पर तौर करने के बाद प्रमुख गृह सचिव अभय कुमार ने कहा कि सूबे में स्कूल, कॉलेज और कोचिंग सेंटर सहित सभी शैक्षणिक संस्थान 16 नवंबर तक बंद रहेंगे.

इसके साथ ही 1 नवंबर से 30 नवंबर तक राज्य के लिए नवीनतम दिशानिर्देश भी जारी किये गए है जिनके मुताबिक सरकार ने तय क्या है कि स्विमिंग पूल, सिनेमा हॉल, मनोरंजन पार्क, मल्टीप्लेक्स आदि पहले के आदेश के मुताबिक 30 नवंबर तक बंद रहेंगे.

इसके आलावा विवाह समारोह में शामिल होने वालों की संख्या भी तय की गई है. विवाह समारोह में मेहमानों की अधिकतम सीमा 100 तय की गई है जबकि अंतिम संस्कार में 20 व्यक्तियों की सीमा लागू की गई हैं.

साभार- नवजीवन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *