Video: जींद में महापंचायत के दौरान राकेश टिकैत का मंच टूटा, सभी किसान नेताओं के साथ जमीन पर आ गए

70 दिन से चले आ रहे किसान आंदोलन में हर दिन कुछ ना कुछ नया देखने को मिल रहा है कभी शांतिपूर्ण प्रदर्शन तो कभी पुलिस और किसानों के बीच तकरार की तस्वीरें सोशल मीडिया पर देखने को मिलती है। बता दें कि गणतंत्र दिवस के मौके पर राजधानी दिल्ली में हुई हिं#सा की घटना के बाद पहले तो लोग किसान आंदोलन पर कई तरह के सवाल उठाने लगे थे।

लेकिन शाम होते-होते किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत मीडिया के सामने रोते हुए नजर आए तो किसान आंदोलन की हवा बिल्कुल बदल गई और देखते ही देखते देशभर के किसान, किसान आंदोलन के समर्थन में उतर आए। और लाखों की संख्या में दिल्ली पहुंचने लगे।

जानकारी के मुताबिक सिंघु और गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ने लगी सिंघु बॉर्डर पर पहुंचे किसानों से जब बात की गई तो उन्होंने कहा कि हमसे राकेश टिकैत के आंसू नहीं देखे गए आखिर हम भी तो किसान हैं इसलिए हम इस आंदोलन के समर्थन में उतर आए हैं।

शुरू हुआ महा पंचायतों का दौर

किसान आंदोलन को समर्थन देते हुए देशभर के किसानों ने महा पंचायतों का आगाज किया जिसके चलते मुजफ्फरनगर में किसानों की बड़ी महापंचायत हुई इसके बाद लगातार देश के कई इलाकों में किसान संगठनों की महापंचायत बुलाई जिन्होंने दिल्ली की सीमा पर चल रहे आंदोलन को समर्थन देने की बात कही।

इस महापंचायत में मचा हंगामा

 

बता दें कि किसान आंदोलन को समर्थन देते हुए लगातार महापंचायतें चल रही हैं इसी सिलसिले में हरियाणा के जींद जिले में किसानों की महापंचायत हो रही थी इसी दौरान किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत कंडेला गांव पहुंचे थे। इसके अलावा जींद जिले में हो रही है इस महापंचायत में 50 खापों के प्रमुख भी आंदोलन को समर्थन देने के लिए पहुंचे थे।

किसानों ने अपने नेता राकेश टिकैत का स्वागत करने के लिए जोरदार मंच लगाया लेकिन मंच पर तय सीमा से ज्यादा लोग पहुंचने की वजह से मंच टूट गया। और राकेश टिकैत सहित कई नेता नीचे जा गिरे।

जिसके बाद आनन-फानन में राकेश टिकैत को उठाया गया। मंच टूटने के बाद महापंचायत का माहौल बिल्कुल बिगड़ गया। अब इसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।