Fact Check: मस्जिद पर चढ़कर लहराया भगवा, लगाए गए धार्मिक नारे, करौली का बताकर वायरल किया जा रहा वीडियो

राजस्थान के करौली में हुए बावल के बाद वहां तनाव का माहौल बना हुआ है। हालात को काबू में करने के लिए करौली डीएम राजेंद्र सिंह शेखावत ने इलाके में सात अप्रैल तक कर्फ्यू लगा दिया है। इसी बीच सोशल मीडिया पर करौली बावल को लेकर लगातार कई वीडियो और तस्वीरे शेयर की जा रही है, जिसमें से कुुछ सही तो कई गलत भी हैं।

ऐसा ही एक वीडियो तेजी से वायरल कराया जा रहा है, जिसमें मस्जिद के बाहर भीड़ मौजूद है और जय श्री राम के नारे लगाए जा रहे हैं। वीडियो में मस्जिद के दरवाजे के ऊपर खड़े होकर एक युवक भगवा लहराते दिख रहा हैं।

गाजीपुर की मस्जिद पर चढ़कर लहराया भगवा

इस वीडियो को करौली से जोड़कर साझा किया जा रहा हैं। पत्रकार राना अय्यूब ने इसे इंस्टाग्राम पर पोस्ट करते हुए लिखा कि ट्रिगर वॉर्निंग, राजस्थान के करौली में हिंदू कट्टरपंथियों ने एक मस्जिद के ऊपर भगवा लहराते हुए जय श्री राम का नारा लगाए।

इस वीडियो को कई लोगों ने सोशल मीडिया पर कुछ इसी तरह के दावों के साथ शेयर किया। लेकिन ‘दी लल्लनटॉप’ की पड़ताल में यह दावा गलत पाया गया।

असल में वायरल हो रहा ये वीडियो राजस्थान के करौली का नहीं बल्कि उत्‍तर प्रदेश के गाजीपुर का है। इस वीडियो को 4 अप्रैल 2022 को करौली डीएम ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर कर बताया कि यह वीडियो करौली से संबंधित नहीं है।

दी लल्लनटॉप के अनुसार इस वीडियो को 3 अप्रैल को सैय्यद उज़मा परवीन ने ट्विटर पर शेयर किया था और साथ ही वायरल वीडियो को गाजीपुर के गहमर का बताया था।

वहीं इस मामले को लेकर गाजीपुर के गहमर के कुछ स्‍थानीय निवासियों के हवाले से दी लल्लनटॉप ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि यह घटना 2 अप्रैल की है।

गलत दावे के साथ वायरल कराया जा रहा वीडियो

हिन्दू संगठनों द्वारा गांव में नवरात्रि का जुलूस निकाला जा रहा था, जब जुलूस गांव के दक्षिणी मोहल्ला से गुजरा तो धार्मिक नारे लगाते हुए जुलूस में मौजूद कुछ असामाजिक तत्वों ने मस्जिद में भगवा लहराया।

बताया जा रहा हैं कि जुलूस में मौजूद एक युवक मस्जिद के दरवाजे पर चढ़ा और भगवा झंडा लहराने लगा। ये लोग करीब पांच मिनट तक रुके रहे और इस बीच किसी तरह की कोई हिं’सा नहीं हुई।

हालांकि इस दौरान मस्जिद में कुछ रंग वगैरह जरूर लग गए थे लेकिन बाद में मस्जिद को धो कर नमाज़ अदा की गई थी। वहीं इस मामले में पुलिस ने वायरल वीडियो को संज्ञान में लेते हुए अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया हैं।