नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े के निकाह की तस्वीर शेयर करके कहा- ये तुमने क्या किया समीर दाऊद

महाराष्ट्र सरकार के मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के मुंबई जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के खिलाफ काफी वक्त से मोर्चा खोल रहा हैं. बीते कुछ वक्त से मलिक ने समीर वानखेड़े पर आरोपों की झड़ी लगा दी हैं. अब एक बार फिर से नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर ट्वीट करके निशा’ना साधा हैं. अपने ट्वीट में महाराष्ट्र की उद्धव सरकार के मंत्री नवाब मलिक ने एक तस्वीर शेयर कि हैं.

इसके साथ ही नवाब मलिक ने लिखा है कि कबूल है, कबूल है, कबूल है. उन्होंने अपने ट्वीट में आगे लिखा है कि समीर दाऊद वानखेड़े यह तुमने क्या किया?

समीर वानखेड़े ने किये थे निकाहनामे पर दस्तखत?

नवाब मलिक ने अपने ट्वीट में जो तस्वीर शेयर की हैं जिसमें टोपी पहने हुए एक शख्स बैठा हुआ नजर आ रहा हैं, नवाब मलिक के अनुसार यह शख्स समीर वानखेड़े है जो किसी कागज पर दस्तखत करते हुए दिख रहे हैं, नवाब मलिक ने इस कागज को निकाहनामा बताया है.

नवाब मलिक ने निकाहनामे पर दस्तखत करते वक्त की यह फोटो उस दिन जारी की है जब बॉम्बे हाईकोर्ट उनके खिलाफ दायर मानहानि की याचिका पर सुनवाई करने जा रहा हैं.

आपको बता दें कि एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े के पिता ने बॉम्बे हाईकोर्ट का रुख किया हैं, उन्होंने मंत्री नवाब मलिक के खिलाफ मानहानि की याचिका दायर करके सवा करोड़ रुपये की क्षतिपूर्ति की मांग उठाई हैं.

बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर करके समीर वानखेड़े के पिता ने मांग की है कि उसके परिवार के खिलाफ नावाब मलिक ने सोशल मीडिया के जरिए कई अपमानजनक बयान जारी कीये हैं और ऐसा करने से तुरंत रोका जाए. खबरों के अनुसार बॉम्बे हाईकोर्ट इस मामले में आज अपना फैसला सुना सकता है.

आपको बता दें कि एनसीपी नेता ने समीर वानखेड़े पर अपना धर्म छुपाने का आरोप लगाया है, नवाब के मुताबिक समीर मुस्लिम है और उन्होंने फर्जी सर्टिफिकेट के आधार पर खुद को अनुसूचित जाति का बताकर यह सरकारी नौकरी हासिल की हैं.

समीर वानखेड़े ने तैयार किये नकली सर्टिफिकेट्स

बॉम्बे हाईकोर्ट के समक्ष नवाब मलिक की टीम ने समीर वानखेड़े के स्कूल प्रवेश फॉर्म और उनकी शुरुआती स्कूली शिक्षा के दौरान के सर्टिफिकेट्स बतौर साक्ष्य पेश किये थे.

आपको बता दें कि नवाब मलिक की टीम ने दावा करते हुए कहा था कि समीर वानखेड़े ने अपने बचाव के लिए कई नकली सर्टिफिकेट्स बनवा कर तैयार कर लिए है. वहीं कोर्ट में समीर वानखेड़े की लीगल टीम ने उनका बर्थ सर्टिफिकेट पेश किया था, इसमें उनका नाम समीर ज्ञानदेव वानखेड़े दर्ज है.