सोनाक्षी सिन्हा ने शेयर किया अपना दुःख दर्द, कहा- मेरे इस दर्द के लिए पिता शत्रुध्न जिम्मेदार

बॉलीवुड में अक्सर ही हमें रोज-रोज नए नए किस्से सुनने को मिलते रहते है जिनमें बड़े-बड़े सेलेब्स के नाम सामने आते रहते है. इन दिनों भी मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक कई नाम चर्चा का विषय बने हुए हैं. जैसे आमिर खान इन दिनों अपनी तीसरी शादी की खबरों को लेकर चर्चे में बने हुए है. उनका हाल ही में तलाक हुआ और अब उनकी तीसरी शादी के कयास लगाए जा रहे हैं.

वहीं इन दिनों एक एक्ट्रेस का नाम सबसे ज्यादा सुर्ख़ियों में बना हुआ है और वो नाम है अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा. सोनाक्षी इन दिनों अपनी निजी लाइफ को लेकर खबरों में बनी हुई है. दरअसल हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने अपना दर्द बयां किया है.

सोनाक्षी सिन्हा का छलका दर्द

सोनाक्षी सिन्हा ने एक बातचीत के दौरान अपने दर्द को साक्षा करते हुए अपने इस दुख और ड’र के लिए पूरी तरह अपने पिता शत्रुघ्न सिन्हा जी और अपनी माँ को ज़िम्मेदार बताया है.

दरअसल सोनाक्षी ने अपने लाइफ के एक दुःख दर्द को शेयर किया है. सोनाक्षी सिन्हा ने अपने इस इंटरव्यू के दौरान बताया कि उन्हें अब तक शादी नहीं होने का ड’र काफी ज्यादा सताने लगा है क्योंकि वो अभी तक आधी बूढी हो चुकी है.

इतना ही नहीं इस दौरान सोनाक्षी ने अपने अभी तक कुंवारी होने के लिए अपने पिता शत्रुघ्न सिन्हा को जिम्मेदार बताया है. सोनाक्षी का कहना है कि वो अपने पिता के चलते अभी तक कुंवारी है वर्ना उनकी अभी तक शादी हो चुकी होती.

बता दें कि सोनाक्षी सिन्हा 34 वर्ष की हो चुकी है और अभी तक उनकी शादी नहीं हो सकी है. इंटरव्यू के दौरान सोनाक्षी सिन्हा ने अपने पहले स्कूल वाले प्यार के बारे में बता कर हर किसी को चौंका दिया.

पिता को बताया जिम्मेदार

सोनाक्षी ने बताया कि उन्हें अपने पहले स्कूल में किसी से प्यार हुआ और और वो उसके साथ पांच साल से भी ज्यादा वक्त तक रिलेशनशिप में रही थी लेकिन सोनाक्षी की उससे शादी नहीं हो सकी.

इसी का जिम्मेदार वो अपने पिता को ठहरती है. सोनाक्षी सिन्हा ने कहा कि उन्होंने बहुत बार अपने माता-पिता को उनकी शादी कराने के लिए कहा है और उनके लिए रिश्ता ढूढने के लिए बोल चुकी है लेकिन उन्होंने सोनाक्षी की बात को कभी गंभीरता से नहीं लिया है.

इसी के चलते आज 34 साल की उम्र में भी अभिनेत्री अभी तक कुंवारी है. उन्होंने बताया कि उन्हें इन दिनों कुंवारी रहने का ड’र सबसे अधिक सता रहा है और ड’र धीरे-धीरे उनका दुःख का कारण बनता जा रहा हैं.