राजस्थान की प्रिया सिंह: घूंघट से निकलकर बॉडीबिल्डर बनने तक का सफर

ज्‍यादातर लड़कियां डॉक्टर, सिविल सर्विस और इंजीनियरिंग करने के सपने देखती हैं। लेकिन स्टेज पर पुरुषों के बराबरी से खड़े होकर बॉडी बिल्डिंग करने के सपने देखना फिलहाल दूर की बात है और खासकर राजस्‍थान जैसे राज्‍य में, यहां महिलाऐं ज्‍यादातर घूंघट में ही नजर आती हैं। ऐसे में बॉडी बिल्डिंग जैसे सपनों के लिए ना तो परिवार का सपोर्ट मिल पाता हैं और ना ही सोशल एंवायरमेंट की इजाजत। ऐसे में इस तरह के सपने देखना और उन्‍हें सकार करना अपने आप में एक बड़ा मुकाम हासिल करना हैं और कुछ ऐसा ही करके दिखाया हैं राजस्‍थान की प्रिया सिंह ने।

घूंघट से निकलकर बॉडीबिल्डर बनने तक

अब तक तीन बार मिस राजस्‍थान का टाइटल जीत चुकी प्रिया सिंह एक बॉडी बिल्डिंर हैं। उन्‍होंने कड़ी मेहनत और लग्‍न से यह मुकाम हासिल किया हैं। साल 2012 में ग्रेजुएशन करने वाली प्रिया सिंह ने 37 साल की उम्र में दिल्‍ली के बॉडी बिल्डिंग के स्‍टेज पर एंट्री लेकर कर किसी को हैरान कर दिया था।

प्रिया सिंह बताती हैं कि जब वह साल 2016 में फिटनेस के लिए जिम जाने लगी तो वहां उनकी हार्ड प्रैक्टिस देखकर कोच ने उन्‍हें बॉडी बिल्डिंग करने का सुझाव दिया। उन्‍होंने काेच के कहने पर वर्ष 2018 में कॉम्पिटीशन के लिए तैयारी और जमकर एक्सरसाइज करनी शुरू कर दी। इस बीच जुलाई 2018 में वह दिल्ली में आयोजित नेशनल बॉडी बिल्डिंग कॉम्पिटीशन देखने पहुंची।

तब उन्‍होंने पाया कि वह राजस्‍थान से कोई भी प्रतिभागी नहीं था। उन्‍हें इससे काफी मायूसी हुई और उन्‍होंने तभी इसका संकल्‍प किया। इस दौरान उन्‍होंने यह भी पाया कि जब स्टेज पर फीमेल प्‍लेयर्स आई तो ऑडियंस उनकी मेहनत की तारीफ करते नजर आई। उन्‍हें यह जानकर अच्‍छा लगा कि लोग उन पर अश्लील कमेंट नहीं दे रहे थे। वहां फीमेल प्लेयर्स को काफी सम्मान दिया जा रहा था।

मेल से ज्यादा एक्सरसाइज फीमेल की

लोग विनर्स के साथ सेल्फी ले रहे थे। इस महौल ने उनका इरादा और पक्‍का कर दिया। वह बताती हैं कि मेल की तुलना में फीमेल में फैट ज्‍यादा होता हैं, इसलिए उन्‍हें ज्यादा एक्सरसाइज और डाइट को फॉलो करना पड़ता हैं। प्रोटीन और सेप्लीमेंट्स भी मेल की तुलना में ज्यादा लेने होते है, जिससे बॉडी पर कुछ साइड इफेक्ट भी देखने को मिल सकते हैं।

उन्‍होंने कहा कि इससे हॉर्मोंस अनबैलेंस हो जाते हैं, लेकिन नेचुरल डाइट से कोई भी इसे मुकाबले को नहीं जीत सकता हैं। उन्‍होंने नवंबर 2018 में पहला बॉडी बिल्डिंग का मिस राजस्थान टाइटल हासिल किया। उन्‍होंने अजमेर, भीलवाड़ा और लक्ष्मणगढ़ कॉम्पिटीशन के टाइटल भी जीते।

हाल ही में उन्‍होंने मार्च में चेन्‍नई में हुई मिस इंडिया प्रतियोगिता में हिस्‍सा लिया। उन्‍होंने टॉप 20 में अपना स्‍थान बनाया। लेकिन खास बात ये रही कि लोग राजस्थान से पहली बार फीमेल एथलीट देखकर काफी खुश हुए। प्रिया सिंह ने कहा कि मैं अभी रोज चार घंटे की एक्‍सरसाइज करती हूँ।

राजस्‍थान में महिला बॉडी बिल्डिंग को लेकर राजस्थान बॉडी बिल्डर्स एसोसिएशन के जनरल सेकेट्री उमर नकवी ने कहा कि राज्‍य में महिलाऐं अपनी फिटनेस के लिए जिम तो करती हैं लेकिन बॉडी बिल्डिंग नहीं करती। उन्‍हें शर्म हैं कि इस पर लोग क्‍या कहेंगे। उन्‍हें हिम्मत से ज्यादा परिवार का साथ और प्रोत्साहन चाहिए।