जानिए अपने अधिकार, ट्रैफिक पुलिस नहीं निकाल सकती आपकी गाड़ी की चाबी

अगर आप दोपहिया वाहन के चालक है तो आपका ट्रैफिक पुलिस से सामना तो हुआ ही होगा. कई बार सिग्नल या किसी हाइवे पर कार और बाइक्स की चेकिंग के दौरान वाहन चालक और ट्रैफिक पुलिस में अनबन भी हो जाती है. वहीं कई बार ट्रैफिक पुलिस आप से गलत व्यवहार भी करती है. कई लोगों के साथ तो यह इतना बढ़ जाता है कि नौबत मा’रपी’ट पर पहुंच जाती है.

यह जरुरी है कि आपको अपने अधिकारों के बारे में पूरी जानकारी हो, असल में ज्यादातर लोगों को अपने अधिकारों के बारे में कोई जानकरी नहीं होती. अगर आप भी अपने अधिकार नहीं जानते है तो यह पोस्ट आपके लिए ही हैं. तो चलिए जानते है क्या है आपके अधिकार.

गाड़ी की चाबी नहीं निकाल सकती ट्रैफिक पुलिस

चेकिंग के दौरान ट्रैफिक पुलिस आपकी कार या बाइक की चाबी निकाल लेती है. ऐसा आपके साथ भी हुआ होगा, और अगर नहीं भी हुआ होगा तो आपके देखा तो जरुर होगा.

यह बेहद आम है कि Traffic Police कार या बाइक की चाबी निकाल लेते हैं लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि नए मोटर व्हीकल एक्ट (Motor Vehicle Act) के तहत ट्रैफिक पुलिस के पास चाबी निकालने जैसा कोई भी अधिकार नहीं होता है.

इसके आलावा कई बार ट्रैफिक पुलिस वाले वाहन के टायर्स की हवा भी निकालते हुए नजर आते है. बता दें कि यह भी करना पूरी तरह से गलत और गैरकानूनी है. अगर कोई ट्रैफिक पुलिस द्वारा ऐसा किया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई भी हो सकती हैं.

जाने अपने अधिकार

लोगों के साथ ट्रैफिक पुलिस वाले कई बार क़ानून के नाम पर बदसलूकी करते हुए भी देखें जाते है. इतना ही नहीं कई बार वो उनसे गा’ली- ग’लौच और पिटा’ई तक आकर लेते है.

ऐसे हालातों में आप इसके खिलाफ मामला दर्ज कराने का अधिकार रखते है क्योंकि पुलिसकर्मी को किसी वाहन चालक के साथ बदसलूकी करने या उसके साथ मा’रपी’ट करने या फिर उसे गा’ली देने का कोई अधिकार नहीं है.

इतना ही नहीं अगर उच्चाधिकारी भी ट्रैफिक पुलिस से मिले है और आपकी शि’कायत के बाद भी वो कोई एक्शन लेने की जगह लीपापोती करने का प्रयास करते है तो आप इस मामले को हाईकोर्ट ले जा सकते है.

यदि आप गरीबी रेखा से नीचे यानी बीपीएल से है या फिर महिला या विकलांग हैं तो उसे मुफ्त कानूनी सहायता भी उपलब्ध कराई जाएगी. इसकी सहायता से आप पुलिसकर्मी के खिलाफ नागरिक और मानव अधिकार के हन’न का केस कर सकते है.

बता दें कि ट्रैफिक पुलिस सिर्फ चालान का’ट सकती है और गाड़ी जब्त कर सकती है. पुलिस वाहन रोकने के लिए हाथ का इशारा कर सकते है, चेकिंग कर सकते है. अगर कोई चालाक पुलिसकर्मी के इशारे पर वाहन नहीं रोकता है तो उसके खिलाफ उचित कार्रवाई करने का अधिकार पुलिसकर्मी के पास होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *