महिलाओं के इन अंगों में छिपा होता है अपने पति का भविष्य, जानिए सौभाग्यशाली महिलाओं के संकेत

सनातन धर्म में महिलाओं को काफी ऊंचा दर्जा दिया गया है, उन्हें भरपूर सम्मान के साथ देखा जाता है और उन्हें काफी सम्मान दिया जाता है. अगर किसी घर में बच्ची का जन्म होता है तो उसे मां लक्ष्मी का स्वरूप माना जाता है. इसी तरह जब बेटे का विवाह करके बहु को घर में लाया जाता है तो उसे अन्नपूर्णा कहा जाता हैं.

धार्मिक शास्त्रों के अनुसार घर की किस्मत महिलाओं के साथ जुडी होती है. कई महिलाऐं ऐसी होती है जिनके घर में प्रवेश के साथ ही घर की किस्मत संवर जाती है.

जाने भाग्यशाली संकेतों के बारे में

शादी के बाद जब यह महिलाऐं अपने ससुराल पहुंचती हैं तो वहां की तस्वीर बदलते देर नहीं लगती है. सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार महिलाओं के शरीर पर कुछ ऐसे चिन्ह और निशान मौजूद होते है जिन्हें देखकर पता चलता है कि वो कितनी सौभाग्यशाली हैं.

नाक के पास तिल

कई महिलाओं की नाक के पास तिल मौजूद होता है. ऐसी स्त्रियों को सामुद्रिक शास्त्र में बहुत ही अधिक भाग्यशाली माना गया है. यह महिलाऐं जहां भी जाती है, वहां की किस्मत संवार देती है. यह महिलाऐं जीवन के किसी भी दौर में आर्थिक तंगी का सामना नहीं करती हैं.

पैरों के तलवे के नीचे बने त्रिकोण

महिलाओं के पैर के तलवे भी सामुद्रिक शास्त्र के मुताबिक उनके सौभाग्यशाली होने का इशारा करते है. जिन के पैरों के तलवों के नीचे त्रिकोण का संकेत बना हुआ होता है वो काफी बुद्धिमान और सूझ-बूझ वाली महिलाऐं होती है. ऐसी महिलाऐं अपने पूरे परिवार को एक धागे में संजो कर रखती है, वो घरों में कभी भी कलह नहीं होने देती है और परिवार को जोड़कर चलती हैं.

बड़ी-बड़ी आंखों वाली महिलाएं

कई महिलाओं की आंखें हिरणी की तरह बड़ी होती है. ऐसी महिलाएं अपने जीवन में हमेशा खुश रहती है और अपने परिवार को खुश रखती है. ऐसी महिलाओं के जीवन में हमेशा सुख बरसता है. शादी के उपरांत इन्हें अपने पति और ससुराल पक्ष से भरपूर प्यार मिलता है.

इन महिलाओं से पार्टनर रहते खुश

ऐसी महिलाएं जिनके पैर बेहद ही कोमल, गुलावी और विकसित होते है, वो अपने पार्टनर को बेहद खुश रखती है. ऐसी महिलाओं के पार्टनर उनके बिना रह नहीं पाते हैं. इन्हें जीवन में सभी सुख मिलते है, यह महिलाऐं खुशमिजाजी होती है इसलिए इन्हें हर कोई पसंद करता हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *