नमकीन के पैकेट पर ‘उर्दू’ देख भड़की महिला पत्रकार, वायरल वीडियो पर लोगों ने दी ऐसी प्रतिक्रिया

सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब सुर्खियां बटोर रहा हैं। यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है और इसे लेकर सोशल मीडिया पर बहस भी शुरू हो चुकी हैं। वायरल वीडियो में सुदर्शन टीवी चैनल की एक महिला पत्रकार हल्दीराम के आउटलेट में पहुंची है और हल्दीराम (Haldiram) के पैकेट पर ‘उर्दू’ लिखे जाने को लेकर हंगामा कर रही है।

सबसे पहले हम आपको बता दें कि असल में पैकेट पर उर्दू नहीं बल्कि अरबी में लिखा हुआ है। इसे लेकर सोशल मीडिया पर अलग-अलग प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है।

पत्रकार ने क्‍यों किया हंगामा

वीडियो में देखा जा रहा है कि हल्दीराम के आउटलेट में पहुंच कर एक महिला पत्रकार हंगामा कर रही है। पत्रकार के हाथ में हल्‍दीराम का एक नमकीन का पैकेट है और वह कर्मचारी से सवाल कर रही हैं कि व्रत के पैकेट पर ‘उर्दू’ में क्यों लिखा गया है?

इस पर जवाब देते हुए महिला कर्मचारी ने कहा कि हमारे यहां हर कम्युनिटी के लोग आते हैं इसलिए हम उर्दू का भी उपयोग करते हैं।

इस दौरान पत्रकार और कर्मचारी में काफी बहस होती देखी जा सकती हैं। कर्मचारी से सवाल करते हुए पत्रकार बार-बार कहती हैं कि कहीं इस नमकीन में जानवर के तेल का उपयोग तो नहीं किया गया है?

यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है और यूजर्स इस पर जमकर प्रतिक्रियाएं भी दे रहे हैं। वहीं वीडियो सामने आने के बाद ट्विटर पर #haldiram ट्रेंड करने लगा। पुनीत कुमार सिंह नाम के ट्विटर हैंडल ने इसे शेयर करते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी।

लोगों ने दी ऐसी प्रतिक्रियाएं

उन्‍होंने लिखा कि हल्दीराम के आउटलेट में घुसकर सुदर्शन न्यूज़ की गुं’डागर्दी। यूजर ने आगे लिखा कि यकीन मानिए, यह सबकुछ पुलिस की मौजूदगी में हुआ।

वहीं पत्रकार साक्षी जोशी ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए पतंजलि के घी के डिब्बे की तस्वीर साझा की। उन्‍होंने आगे लिखा कि यह अंग्रेजी के नीचे उर्दू में क्यों लिखा है? ऐसा क्या छुपा रहा है पतंजलि?

आशीष मिश्रा नाम के टि्वटर हैंडल ने 100 रुपये के नोट की फोटो साझा करते हुए लिखा कि नोट पर भी उर्दू में लिखी है, मुझे भरोसा है कि किसी दिन बुद्धि का कोई ठेकेदार इसे लेने से भी मना कर देगा।

वहीं कादंबिनी शर्मा लिखती हैं कि हल्दीराम को अपने स्टाफ को प्रशस्ति पत्र और बोनस देना चाहिए। उन्‍होंने जिस तरह से जहालत और बदतमीजी के सामने शांति और प्रोफेशनल व्यवहार दिखाया, वह आसान नहीं।