सरकार का बड़ा फैसला: पांच महीने का बिजली बिल होगा माफ, जिन ने भर दिए उन्‍हें वापस मिलेगा पैसा

बिजली उपभोक्ताओं को सरकार एक बड़ा तोहफा देने जा रही है। मध्‍यप्रदेश सरकार ने फैसला लिया है कि 31 अगस्त 2020 तक के सभी बिजली बिलों को माफ करने वाली है। इतना ही नहीं जिन लोगों ने इस बीच बिल भर दिए थे, उन्हें उनका पैसा वापस मिलेगा, यानी उस पैसे को अगले बिलों में समायोजित कर दिया जाएगा।

दरअसल कोरोना काल में जिन बिजली उपभोक्ताओं केे बिजली बिल बकाया थे, उन्‍हें शिवराज सरकार ने राहत देने का फैसला किया है।

कोरोना काल के बिजली बिल माफ

बता दें कि बिजली कंपनी ने इस बकाया बिल को बाद में समयोजन योजना के तहत छूट देकर उन बिलों को भरवा लिया गया था, लेकिन अब शिवराज सरकार ने उन बिजली बिलों को माफ करने का फैसला लिया है।

वहीं जिन उपभोक्ताओं ने बिजली बिल जमा कर दिए थे, उनके द्वारा देय की गई राशि का समायोजन उनके अगले बिलों में किया जाएगा।

भाजपा सरकार ने बताया है कि अप्रैल 2020 से 31 अगस्त 2020 तक के बिजली बिल सरकार द्वारा माफ किए गए है। विधानसभा में इसकी घोषणा करते हुए सीएम ने शिवराज सिंह ने बताया है कि इसके तहत सूबे के 88 लाख घरेलू उपभोक्ताओं का करीब 6400 करोड़ रुपए माफ किया जाएगा।

आपको बता दें कि प्रदेश में करीब 1 करोड़ 20 लाख घरेलू उपभोक्ता मौजूद है। जिन उपभोक्तओं के पास 1 किलोवॉट तक का कनेक्शन है, उन्‍हें इस का फायदा मिलेगा.

जिन ने भर दिए, उन्‍हें वापस मिलेगा पैसा

बताया जा रहा है कि इस छूट के तहत सूबे के करीब 88 लाख लोगों के अप्रैल 2020 से 31 अगस्त 2020 तक के बिजली बिल माफ किए जाएंगे। इसे लेकर सरकार जल्‍द ही आदेश जारी कर सकती है।

आपको बता दें कि कोरोना काल में अप्रैल 2020 से 31 अगस्त 2020 तक जिन उपभोक्ताओं के बिजली बिल बकाया था, उन्हें वसूलने के लिए बिजली कंपनी ने समाधान योजना चालू की थी।

इस योजना के तहत 25 से 40 प्रतिशत की छूट के साथ बिजली बिल भरवाए गए थे। लेकिन कोरोना काल में आर्थिक तंगी के चलते लोगों के हालात ठीक नहीं थे, ऐसे में शिवराज सरकार ने ये बड़ा फैसला करते हुए बिजली उपभोक्तओं को यह सौगात दी है।