गलतियों के लिए मांगी माफी: अब भड़काऊ भाषण नहीं दे पाएंगे यति, ये वजह आई सामने

विशेष समुदाय के खिलाफ विवा’दित और भ’ड़काऊ बयानों के चलते चर्चा में रहने वाले गाजियाबाद डासना देवी मंदिर के महंत एवं जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर स्वामी यति नरसिंहानंद गिरी ने सार्वजनिक जीवन छोड़ने की बात कही है. बता दें हरिद्वार में धर्म संसद के आयोजक और हे’ट स्पीच मामले में जमानत पर रिहा हुए यति नरसिंहानंद ने एक वीडियो जारी कर रहा है कि वे अपनी पुरानी गलतियों के लिए माफी मांगते हैं.

बता दें स्वामी यति नरसिंहानंद 2012 में उत्तर प्रदेश के देवबंद स्थित एक इस्लामिक संस्था ‘दारुल उलूम देवबन्द’ का विरोध किया और तब से चर्चाओं में आए थे। इसके बाद हरिद्वार में हुई धर्म संसद और विशेष समुदाय की महिलाओं के खिलाफ टिप्पणी करने पर स्वामी यति नरसिंहानंद की देशभर में निंदा हुई थी.

अब यति नरसिंहानंद ने सामाजिक जीवन छोड़कर धार्मिक जीवन जीने और बच्चों को धार्मिक ज्ञान देने की घोषणा की है. यति ने एक वीडियो जारी किया है. जिसमें ये घोषणा की है कि वो सार्वजनिक जीवन छोड़ रहे हैं. आज से उनका नया जीवन शुरू हो रहा है और पुराने जीवन के लिए वो माफी मांगते हैं.

यति नरसिंहानंद ने वीडियो जारी कर कहा,

“हम लोग यहां जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ़ वसीम रिजवी को लेने आए थे. लेकिन हमारे आने से पहले ही उनकी रिहाई हो गई. और वो चले गए हैं. यति ने आगे कहा उनका और हमारा साथ यहीं तक था. जैसा भी सुखद या दुखद उनका अनुभव रहा, इसके लिए मैं पूर्णत दोषी हूं. मेरी कमजोरी की वजह से उन्हें चार महीने से ज्यादा जेल में रहना पड़ा. उनकी कोई गलती नहीं थी. उन्होंने केवल सच बोला. लेकिन मैं नरसिंहानंद सरस्वती इसके लिए खुद को जिम्मेदार मानता हूं. मैं उनसे माफी मांगता हूं.

मैं हिंदू समाज से कहना चाहता हूं कि मैंने अबतक का अपना पूरा जीवन जिहाद के खिलाफ लड़ने में लगाया. और अब शेष जीवन मैं मां और महादेव के यज्ञ व योगेश्वर के प्रचार में लगाना चाहता हूं. आज से में सब कुछ त्याग कर आज से में धार्मिक जीवन जीने और बच्चों को धार्मिक ज्ञान देने की घोषणा करता हूँ.

गौरतलब है की हरिद्वार धर्मसंसद में वि’वा’दित बयान देने के लिए यति नरसिंहानंद के खिलाफ FIR दर्ज हुई थी और उन्हें गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद दिल्ली के बुराड़ी इलाके में भी हिंदू महापंचायत का आयोजन किया गया था. जिसमे यति ने भड़काऊ बयान दिया था और उनके ऊपर FIR दर्ज हुई थी.

यति नरसिंहानंद ने दिल्ली के बुराड़ी में हिंदू महापंचायत का आयोजन के दौरान कहा था कि “वर्ष 2029 में या वर्ष 2034 में या वर्ष 2039 में मुस्लिम प्रधानमंत्री बन जाएगा. अगर एक बार मुस्लिम प्रधानमंत्री बन गया तो अगले 20 साल में 50 प्रतिशत हिंदुओं का धर्मांतरण हो जाएगा बता दें इससे पहले भी यति कई बयानों को लेकर वि’वा’दों में रहे हैं.